सपा संरक्षक मुलायम की सीट से चुनाव लडे़गे अखिलेश यादव

वाराणसी – 15 मार्च 2019

पूर्वांचल में 2014 के लोकसभा चुनाव में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने जिस एक सीट को जीता था, उससे अब उनके बेटे अखिलेश यादव चुनाव लड़ने जा रहे हैं। सपा इस सीट को पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश के लिए सुरक्षित मान रही है।

सूत्रों के अनुसार लोकसभा चुनाव 2019 में पहले यहां से कन्नौज सांसद डिंपल यादव को लड़ाने की चर्चा थी लेकिन अब तय हो गया है कि यहां से अखिलेश लड़ेंगे। पार्टी ने शुक्रवार को लखनऊ में बैठक बुलाई है। इसी बैठक में अखिलेश के साथ ही वाराणसी से पूर्व मंत्री सुरेंद्र पटेल और बलिया से नीरज शेखर के नाम की आधिकारिक घोषणा कर दी जाएगी। चंदौली सीट के प्रत्याशी पर पेंच फंस गया है।
बसपा से गठबंधन के बाद तय सीटों में सपा ने अब तक जिन सीटों से उम्मीदवार तय किए हैं, उनमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मैनपुरी, फिरोजाबाद और बदायूं से ‘यादव परिवार’ के उम्मीदवार घोषित किए जा चुके हैं। बृहस्पतिवार को मुलायम सिंह यादव ने बहू अपर्णा यादव को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ही संभल से टिकट देने की सलाह दी है। इससे पूर्वांचल में परिवार की उपस्थिति दर्ज नहीं हो पाती।

सूत्रों के अनुसार उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 2019 में 75 सीटें जीतने का एलान करते हुए अमेठी और आजमगढ़ को क्रमश: कांग्रेस और सपा से छीनने की बात कह चुके हैं। इससे पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को आशंका थी कि अगर पूर्वांचल से ‘यादव परिवार’ ने चुनाव नहीं लड़ा तो सत्ता पक्ष सपा को ‘रणछोड़’ का मुद्दा गरमाएगा। 2014 में मुलायम सिंह ने मैनपुरी छोड़ने और आजमगढ़ को रखने से कार्यकर्ताओं में सपा के पूर्वांचल प्रेम का संदेश गया था।

LEAVE A REPLY