एयर स्ट्राइक से बौखलाए पीओके ने एलओसी पर किया हमला, भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जबाव

Army sounded a high alert across Line of Control with army jawans patrolling in Nowgam sector after special forces had carried out "Surgical strike" to destroy 7 launch pads along the Line of Control where teams of terrorists had positioned themselves. Express photo by Shuaib masoodi 30.9.2016

जम्मू कश्मीर – 28 फरवरी 2019

एयर स्ट्राइक से बौखलाए पाकिस्तान ने बुधवार को दूसरे दिन भी एलओसी पर सेना की चौकियों तथा रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी की। सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। हालांकि, इसमें किसी प्रकार के जानमाल के नुकसान होने की खबर नहीं है। फायरिंग के चलते सलामाबाद से क्रास एलओसी ट्रेड स्थगित कर दिया गया। मंगलवार को भारत की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान की पांच चौकियां तबाह हो गई थीं।

आंकड़ों के मुताबिक उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के उरी में बुधवार तड़के पाकिस्तान ने सेना की चौकियों को छोटे हथियारों के साथ ही मोर्टार से निशाना बनाया। इसके चलते कमलकोट गांव का एक इलाका जद में आ गया। उरी के एसडीएम रियाज मलिक ने बताया कि सुबह करीब तीन बजे पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी की गई। इसमें कमलकोट का एक इलाका चपेट में आ गया। आधे घंटे तक हुई गोलाबारी में किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ।

इलाके में कुछ परिवार थे जिन्होंने गांव छोड़ने की ख्वाहिश जताई, जिसके बाद दो परिवारों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। जम्मू में एलओसी पर पलांवाला सेक्टर में नत्थू टिब्बा पोस्ट को निशाना बनाते हुए करीब छह बजे फायरिंग की गई। इसका जवाब सेना की 18 जैक राइफल यूनिट के जवानों ने भी दिया। लगभग आधा घंटा हुई फायरिंग में किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है।  पुंछ में शाम को करीब छह बजे मनकोट और मेंढर सेक्टर में भारी गोलाबारी शुरू कर दी। सेना की अग्रिम चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाकों को भी निशाना बनाकर गोलाबारी की।

आंकड़ों के मुताबिक कठुआ के हीरानगर में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं। बुधवार सुबह एलओसी पर लगातार हो रहे सीजफायर उल्लंघन से आईबी पर भी हाई अलर्ट जारी है। सीमावर्ती ग्रामीणों ने बताया कि उन्हें सुरक्षाबलों की ओर से सुरक्षित स्थानों पर ही रहने के निर्देश दिए गए हैं। आईबी पर सेना की तैनाती बढ़ने से सीमावर्ती लोग भी दहशत में हैं।

जम्मू और कठुआ में वीरवार को अंतरराष्ट्रीय बार्डर और एलओसी से पांच किलोमीटर के दायरे में चल रहे बारहवीं कक्षा तक के सभी सरकारी व निजी स्कूल बंद रहेंगे। सीमा पार से हो रही गोलाबारी को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

LEAVE A REPLY