मायावती ने राहुल को याद दिलाया इन्दिरा का “गरीबी हटाओं” का नारा

लखनऊ – 29 जनवरी 2019

बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को कहा कि विश्वसनीयता की बात करें तो कांग्रेस और भाजपा दोनों ही सरकारों का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। लखनऊ में एक प्रेस कांफेस के दौरान कहा, उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस वादे को लेकर भी तंज कसा जिसमें उन्होंने 2019 में हर गरीब को न्यूनतम आय सुनिश्चित करने की बात कही है।

मायावती ने कहा, चुनावी वादे और घोषणा-पत्र पर तो लोगों को बिल्कुल भी भरोसा नहीं रहा है। इस संबंध में कुछ फैसले अगर लागू भी हुए तो वे केवल दिखावटी ही साबित हुए हैं, कांग्रेस पार्टी की तरफ से लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इस लुभावनी घोषणा से पूरा देश आशंकित है कि ‘सत्ता में आए तो देश में गरीबी और भूखमरी का अंत करने के लिए न्यूनतम आय की गारंटी सुनिश्चित करेंगे’।

आंकड़ो के मुताबिक उन्होंने कहा कि “गरीबी हटाओ” का बहुचर्चित नारा और वर्तमान में केन्द्र की बहुमत वाली बीजेपी सरकार का विदेश से कालाधन वापस लाकर देश के हर गरीब को 15 से 20 लाख रूपये देकर उनके “अच्छे दिन” लाने का वायदा पूरी तरह से छलावा व वादाखिलाफी साबित हुआ है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा द्वारा किसानों की दुर्दशा समाप्त कर उन्हें आत्महत्या की मजबूरी से मुक्ति दिलाने व उत्पाद का लाभकारी मूल्य दिलाने का वायदा भी केवल हवा-हवाई व छलावा साबित हुआ है।

आंकड़ो के मुताबिक बसपा सुप्रीमो ने कहा कि ‘इसीलिए केवल सत्ताधारी बीजेपी को ही नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी को भी देश की आम जनता खासकर करोड़ों गरीबों, मजदूरों, किसानों और बेरोजगारों से ऐसा कोई भी वादा नहीं करना चाहिए जो अन्ततः छलावा व धोखा साबित हो।’

LEAVE A REPLY