800 किलो खिचड़ी या गरीबों से मज़ाक़

दिल्ली में आज 800 किलोग्राम खिचड़ी बनाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की तैयारी की गई है। खिचड़ी बनाते समय कई शेफ के साथ केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति, रामदेव, हरसिमरत कौर भी मौजूद थीं।

खिचड़ी बनाने की प्रक्रिया रात में ही शुरू हो गई थी।खिचड़ी बनाने के लिए स्टील से बनी एक बड़ी हांडी तैयार की गई है और ईंधन के तौर पर स्टीम का इस्तेमाल किया गया। पकवान बनाने के लिए चावल और दाल के अलावा देश भर के अलग अलग मसाले और सामान इस्तेमाल किये गए। इस प्रयास का मकसद ‘खिचड़ी को ब्रांड इंडिया खाद्य’के रूप में अंतरराष्ट्रीयस्तर पर लोकप्रिय बनाना और लोगों में भारतीय खाद्य उत्पादों के प्रति रुचि पैदा करना है।

देश में जहाँ आधार कार्ड ना होने की वजह से लोग भूख  से मर जाते हैं और सरकार के कान में जू तक नहीं रेंगती , कितने लोगों के पास एक वक़्त के खाने का राशन नहीं हैं वहीँ दूसरी तरफ 800 किलो खिचड़ी बनाकर कर उसे एक नई पहचान दिलाने की बात कही जा रही है . ये उन गरीबों से सरा-सर मजाक किया जा रहा हैं जो भूख से मर रहें हैं .

LEAVE A REPLY