क्रिकेट का अनोखा हादसा, 13 खिलाड़ियों की जान पर बन आई

दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच एयरफोर्स के पालम मैदान में चल रहे रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान शुक्रवार को उस समय हड़कंप मच गया जब एक वैगन-आर कार सुरक्षा व्यवस्था को धताते-बताते हुए पिच तक पहुंच गई। उस समय वहां पर भारतीय क्रिकेटर इशांत शर्मा, गौतम गंभीर और ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी मौजूद थे।

सुरक्षा में इस बड़ी चूक से दोनों टीमों के खिलाड़ी हतप्रभ रह गए। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने सर्विस स्पोर्ट्स कंट्रोल बोर्ड (एसएससीबी) से इस घटना को लेकर रिपोर्ट मांगी है। वहीं दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लुंगी पहनकर कार चला रहे गिरीश ने पूछताछ में बताया है कि उसका पत्नी से विवाद चल रहा है जिससे उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं रहती है।

वहीं, बीसीसीआइ की एंटी करप्शन यूनिट के प्रमुख नीरज कुमार ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि खेल खत्म होने के कुछ मिनट पहले एक कार दिल्ली एयर फोर्स की सुरक्षा को धताते-बताते हुए बीच पिच पर पहुंच गई। कार चालक से पूछताछ की गई है। जब यह घटना घटी तो मैदान पर 11 फील्डर्स के अलावा दो बल्लेबाज और दो अंपायर भी मौजूद थे। कार की टक्कर से किसी भी खिलाड़ी को जानलेवा चोट लग सकती थी। गौतम गंभीर ने तो इस कार से दौड़ लगाकर खुद को बचाया।

यह हुआ था मैदान पर

दिन का खेल खत्म होने से 20 मिनट पहले शाम के लगभग चार बज कर 40 मिनट पर अचानक मैदान में एक वैगन-आर कार घुस गई। इस समय उत्तर प्रदेश की टीम दूसरी पारी में बल्लेबाजी कर रही थी। कार चालक ने खुद की पहचान गिरीश शर्मा के रूप में बताई है। कार रोकने से पहले उसने दो बार कार को पिच के ऊपर से गुजारा। उसने बाकायदा मैदान पर आठ (8) का आकार बनाने की कोशिश की जैसा कि अमूमन ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के टेस्ट में किया जाता है।

बाद में हरकत में आए सुरक्षाकर्मी

वायुसेना का मैदान होने के कारण यहां कारों को ले जाने की अनुमति पूरी जांच के बाद दी जाती है, लेकिन सुरक्षाकर्मी के गेट पर खड़ा नहीं होने से यह घटना घटी। कार चालक ने परिसर में घुस कर कार को पार्किंग स्थल में ले जाने की जगह खेल के मैदान में घुसा दिया। अचानक हुई इस घटना से सभी खिलाड़ी और दशक स्तब्ध रह गए। हालांकि घटना के बाद सुरक्षाकर्मी हरकत में आए और गेट को बंद कर दिया ताकि वह भाग ना पाए।

LEAVE A REPLY