क्या अमेरिकी ‘रिजर्व बैंक’ के नए चेयरमैन होंगे रघुराम राजन?

ग्लोबल फाइनेंशियल मैगजीन बैरन का कहना है कि RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व के चेयरमैन पद के लिए बेहतर उम्मीदवार हैं  

ऐसी संभावना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप फेडरल रिजर्व के नए प्रमुख के नाम की घोषणा जल्द करेंगे. मौजूदा प्रमुख जेनेट येलेन का कार्यकाल अगले वर्ष की शुरुआत में समाप्त हो रहा है.

आपको बता दें कि पहले भी कई ऐसे उदाहरण रहे हैं जब किसी देश के सेंट्रल बैंक के चेयरमैन का पद ऐसे व्यक्ति संभाल चुके हैं, जो वहां के नागरिक नहीं थे. जैसे बैंक ऑफ इंग्लैंड के चेयरमैन का पद कनाडा में जन्मे मार्क कार्नी ने संभाला था

बैरन मैगजीन के अनुसार रघुराम राजन अमेरिकी सेंट्रल बैंक के चेयरमैन के पद के लिए एक आदर्श व्यक्ति होंगे. रघुराम राजन के पक्ष में बैरन मैगजीन ने तर्क दिया है कि जब दुनियाभर में देशों की खेल टीमें अपने खेल को सुधारने के लिए दुनिया की सर्वोच्च प्रतिभा का चुनाव करती हैं तो फिर अमेरिकी सेंट्रल बैंक ऐसा क्यों नहीं कर सकता?

वित्तीय संकट की भविष्यवाणी कर आए थे सुर्खियों में

रघुराम राजन पहले ऐसे व्यक्ति थे, जो पश्चिमी देश के नहीं थे. वह वर्ष 2005 में अर्थशास्त्रियों और बैंक प्रमुखों की सालाना बैठक में वित्तीय संकट की भविष्यवाणी कर सुर्खियो में आए थे. उन्हें पूर्व यूपीए सरकार ने 2013 में रिजर्व बैंक का गवर्नर नियुक्त किया था. वह फिलहाल शिकागो विश्विवद्यालय में बूथ स्कूल ऑफ बिजनस में फाइनैंस के प्रोफेेेेसर हैं.

रघुराम राजन पिछले साल तक भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर थे.
इस पद को छोड़ने के बाद वह अमेरिका चले गए हैं.
भारतीय रिजर्व बैंक का गवर्नर बनने से पहले राजन इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड में मुख्य अर्थशास्त्री के पद पर रह चुके हैं.उन्होंने 40 साल की उम्र में इंटरनैशनल मॉनिटरी फंड के मुख्य अर्थशास्त्री का पद संभाला था.
ऐसा करने वाले वह सबसे कम उम्र के व्यक्ति बने थे.
2013 में उन्होंने भारतीय रिजर्व बैंक का गवर्नर बनाया गया था.

LEAVE A REPLY