पुणे मुकाबले से पहले एक बार फिर सट्टेबाज़ों ने क्रिकेट को कलंकित करने की कोशिश की

पुणे मुकाबले से पहले भारतीय क्रिकेट में बहुत बड़ा विवाद हो गया है। पिच क्यूरेटर पांडुरंग सलगावकर ने एक रिपोर्टर को पिच के बारे में जानकारी दी है। एक टीवी चैनल इंडिया टुडे के स्टिंग ऑपरेशन में रिपोर्टर ने बुकी बनकर क्यूरेटर से संपर्क किया था,इस वक्त मीटिंग हो रही है, मैच रेफरी समेत कई अधिकारी इसमें हैं। इसके बाद तय होगा कि मैच होगा या नहीं। हालांकि बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक मैच पर असर नहीं पड़ेगा। क्यूरेटर को सस्पेंड कर दिया गया है।

यह स्टिंग ऑपरेशन भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज के दूसरे मुकाबले से ठीक पहले आया है। पांडुरंग सलगावकर कैमरे पर पिच के बारे में जानकारी दे रहे हैं। वह बता रहे हैं कि पिच सट्टेबाजों की डिमांड के हिसाब से ही बनाई गई है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड यानी बीसीसीआई और इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी के नियमों के मुताबिक अधिकारियों के अलावा कोई भी स्टेडियम के अंदर पिच का मुआयना करने नहीं जा सकता। हालांकि सलगावकर ने मैच से पहले सट्टेबाज बने रिपोर्टर को मैदान के अंदर पिच देखने की इजाजत दी।

जब पूछ गया कि कुछ खिलाड़ी विकेट में उछाल चाहते हैं, तो सलगावकर ने कहा कि ऐसा कर दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि यह साढ़े तीन सौ प्लस की पिच है। बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम रनों का पीछा कर सकती है, क्योंकि यह पिच बल्लेबाजी का स्वर्ग है।

महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन ने स्टिंग के बाद कहा कि वे मामले की जांच करेंगे। दोषी पाए जाने पर संबंधित लोगों को सजा दी जाएगी।

LEAVE A REPLY