गाय और भैंस के आएंगे अच्छे दिन, हरियाणा में बनेंगे पीजी हॉस्टल

आजतक आपने पीजी हॉस्टल का नाम छात्र एंव छात्राओं या परदेस में रह रहे श्रमजीवी लोगों के रहने के लिए सुना होगा लेकिन अब हरियाणा की खट्टर सरकार ने एक ऐसा प्रोजेक्ट शुरू करने का फैसला किया है, जिसके बारे में आपने शायद ही पहले कभी सुना हो। दरअसल हरियाणा सरकार राज्य के सभी मुख्य शहरों में गाय और भैंसों के लिए पीजी हॉस्टल बनाने का प्लान कर रही है। माना जा रहा है प्रोजेक्ट की शुरुआत हिसार से की जाएगी।

स्टेट एनिमल हस्बेंड्री और डेरी मिनिस्टर ओम प्रकाश धनखड़ के मुताबिक, सरकार हरियाणा के मुख्य जिलों में 50 से 100 एकड़ जमीन पर मवेशियों के लिए पीजी हॉस्टल बनाएगी, ताकि शहरी इलाकों में रह रहे लोगों को मवेशियों को पालने में मदद मिले और दूध का उत्पादन बढ़ सके।

इस प्लान के बारे में विस्तार से बताते हुए धनखड़ ने कहा, अगर कोई अपार्टमेंट की 10वीं मंजिल पर रह रहा है, तो वो गाय के दूध और गाय पालने की खुशी से वंचित नहीं रहना चाहिए। इस सुविधा की मदद से शहर में रहने वाला कोई भी शख्स गाय पाल सकता है। साथ ही ये हॉस्टल उनके लिए भी मददगार साबित होंगे जो खुद से गौ सेवा करना चाहते हैं।

हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानी राम मंगला ने इस बीच दावा किया है कि गाय हॉस्टल शुरू करने का प्रस्ताव असल में गौ सेवा आयोग ने पेश किया था। उन्होंने कहा कि जो प्रस्ताव पहले हमने दिया था, उसी में बस थोड़ा बदलाव किया गया है। हमने गायों के लिए हॉस्टल लाने की बात कही थी लेकिन सरकार गाय और भैंस दोनों के लिए हॉस्टल बनाना चाहती है। हम हॉस्टल का आईडिया लेकर आए थे और सरकार ने इसे पीजी हॉस्टल का नाम दे दिया।

इस बीच आईएनएलडी नेता अभय चौटाला ने सरकार की इस पहल का मजाक उड़ाते हुए कहा, हमने आजतक पीजी सिर्फ लोगों के लिए सुने थे। गायों का पीजी में रहना बेतुका नहीं होगा? यहां लोगों के पास रहने की जगह नहीं है और सरकार गायों के लिए पीजी सुविधा प्लान कर रही है। ये महज एक पब्लिसिटी स्टंट है।

LEAVE A REPLY