संगीत सोम ने कहा-गद्दारों का बनवाया ताजमहल भारतीय संस्कृति पर कलंक

जून में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कहा था कि मुगल बादशाह शाहजहां द्वारा बनवाया गया प्यार का स्मारक भारतीय संस्कृति का परिचायक नहीं है.

दुनियाभर में हिन्दुस्तान की पहचान के प्रतीकों में शुमार किए जाने वाले ताजमहल को उत्तर प्रदेश के पर्यटन प्रसार से जुड़ी एक बुकलेट में जगह नहीं दिए जाने को लेकर हाल ही में विवाद हुआ था, और अब, राज्य में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विवादास्पद विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को ‘भारतीय संस्कृति पर कलंक’ बताते हुए कहा है कि ताजमहल का निर्माण ‘गद्दारों’ ने किया था.

संगीत सोम ने कहा, “बहुत-से लोग इस बात से चिंतित हैं कि ताजमहल को यूपी टूरिज़्म बुकलेट में से ऐतिहासिक स्थानों की सूची से हटा दिया गया. किस इतिहास की बात कर रहे हैं हम.? जिस शख्स (शाहजहां) ने ताजमहल बनवाया था, उसने अपने पिता को कैद कर लिया था. वह हिन्दुओं का कत्लेआम करना चाहता था. अगर यही इतिहास है, तो यह बहुत दुःखद है, और हम इतिहास बदल डालेंगे. मैं आपको गारंटी देता हूं..” संगीत सोम ने मुगल बादशाहों बाबर, औरंगज़ेब और अकबर को ‘गद्दार’ कहा, और दावा किया कि उनके नाम इतिहास से मिटा दिए जाएंगे.

बीजेपी के सांसद अंशुल वर्मा ने भी इसी विचार से सहमति जताते हुए कहा, “ताजमहल पर्यटन स्थल है. इसे भारतीय संस्कृति से न जोड़ें. सोम ने जो कुछ भी कहा, उसमें कुछ भी विवादास्पद नहीं है. इसका राजनीतिकरण न करें

संगीत सोम ने कहा, “बहुत-से लोग इस बात से चिंतित हैं कि ताजमहल को यूपी टूरिज़्म बुकलेट में से ऐतिहासिक स्थानों की सूची से हटा दिया गया. किस इतिहास की बात कर रहे हैं हम.? जिस शख्स (शाहजहां) ने ताजमहल बनवाया था, उसने अपने पिता को कैद कर लिया था. वह हिन्दुओं का कत्लेआम करना चाहता था. अगर यही इतिहास है, तो यह बहुत दुःखद है, और हम इतिहास बदल डालेंगे. मैं आपको गारंटी देता हूं.” संगीत सोम ने मुगल बादशाहों बाबर, औरंगज़ेब और अकबर को ‘गद्दार’ कहा, और दावा किया कि उनके नाम इतिहास से मिटा दिए जाएंगे.

बीजेपी के सांसद अंशुल वर्मा ने भी इसी विचार से सहमति जताते हुए कहा, “ताजमहल पर्यटन स्थल है. इसे भारतीय संस्कृति से न जोड़ें. सोम ने जो कुछ भी कहा, उसमें कुछ भी विवादास्पद नहीं है. इसका राजनीतिकरण न करें

गौरतलब है कि संगीत सोम उन राजनेताओं में से एक हैं, जिन पर वर्ष 2013 में मुज़फ्फरनगर में दंगे भड़काने का आरोप लगाया गया था. मुज़फ्फरनगर दंगों में 60 से ज़्यादा लोगों की जान गई थी, और हज़ारों लोगों को पलायन करना पड़ा था. संगीत सोम को अपने भड़काऊ भाषणों के लिए जाना जाता है.

 

LEAVE A REPLY