सीएसजेएमयू में 58 प्रश्नपत्र होंगे ऑब्जेक्टिव

file photo

छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय में स्नातक के 58 प्रश्नपत्र ऑब्जेक्टिव फोर्मेट में सेट होंगे . विज्ञानं संकाय में ऑब्जेक्टिव फोर्मेट सभी विषयों में लागू होगा . वर्ष 2017-18 सभी स्टूडेंट्स इसी के अनुसार परीक्षा देंगे. लम्बे समय से अटका ये फ़ैसला परीक्षा समीति ने ले लिया . कौन-कौन से प्रश्नपत्र ऑब्जेक्टिव होंगे इसकी विस्तृत जानकारी जल्द ही वेबसाइट पर उपलब्ध करायी जाएगी.

विश्वविद्यालय में शुक्रवार को कुलपति प्रो. जेवी वैशम्पायन की अध्यक्षता में परीक्षा समिति की बैठक हुई। बैठक में 16 अगस्त को हुई आपातकालीन परीक्षा समिति के सभी प्रस्तावों को रखा गया। सभी प्रस्तावों पर अंतिम मुहर लग गई। वर्ष 2016-17 के व्यक्तिगत परीक्षा परिणाम जो रुके हुए थे, उसे जल्द घोषित किया जाएगा। सात अक्तूबर को हुई बैक परीक्षा के बारे में भी जानकारी दी गई।

सबसे अहम मुद्दा बहुवैकल्पिक प्रश्नों को लेकर लंबी चर्चा हुई। 58 प्रश्नपत्र की परीक्षा ओएमआर पर होगी। इसमें बीए, बीएससी व बीकॉम के प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष के प्रश्नपत्र शामिल हैं। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जेवी वैशम्पायन ने बताया कि इस सत्र में 58 प्रश्नपत्रों की परीक्षा ऑब्जेक्टिव होगी। एक या दो दिन में तय कर दिया जाएगा कि किस विषय का कौन सा प्रश्नपत्र ऑब्जेक्टिव होगा। साथ ही इस बार 15 जून तक सभी विषयों का परीक्षा परिणाम घोषित करने का लक्ष्य है। 58 प्रश्नपत्र ऑब्जेक्टिव होने से इन्हें जांचने में कम समय लगेगा।

इन विषयों में ऑब्जेक्टिव प्रश्नपत्र आएंगे

कला संकाय – अर्थ शास्त्र, शिक्षा शास्त्र, अंग्रेजी साहित्य, भूगोल, हिन्दी साहित्य, इतिहास, गृह विज्ञान, राजनीति विज्ञान, संस्कृत, समाज शास्त्र, उर्दू

विज्ञान संकाय – रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, गणित, जन्तु विज्ञान, वनस्पति विज्ञान
वाणिज्य संकाय – बिजनेस रेगुलेटरी, फ्रेम वर्क, बिजनेस एनवायरमेंट, प्रिंसिपल ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट, पब्लिक फाइनेंस, कार्पोरेट एकाउंटिंग, ऑडिटिंग

90 से 150 किया जाए पारिश्रमिक

उप्र सेल्फ फाइनेंस कॉलेज एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय त्रिवेदी व महामंत्री डॉ. बृजेश भदौरिया ने शुक्रवार को छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जेवी वैशम्पायन से मुलाकात की। उन्होंने कुलपति से उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन 15 से बढ़ा कर 30 किए जाने की मांग की। साथ ही परीक्षा पारिश्रमिक 90 से 150 रुपये करने की मांग की।

LEAVE A REPLY