धोनी कप्तानी छोड़ने के बाद भी है कप्तान

पहला टी20 जीतने के बाद कप्तान विराट कोहली ने पूर्व कप्तान एम एस धोनी की बेटी ज़ीवा के साथ एक दिलचस्प वीडियो शेयर किया, भारत के दो कप्तानों के बीच मैदान के बाहर ऐसी घनिष्ठता के उदाहरण बहुत ज़्यादा नहीं हैं. लेकिन, इसके लिए कोहली से ज़्यादा धोनी ज़िम्मेदार हैं. धोनी भारतीय इतिहास के सबसे कामयाब कप्तान रहे हैं और भारतीय क्रिकेट में क्रिकेटर के तौर पर उनकी तुलना शायद सिर्फ सचिन तेंदुलकर से ही हो सकती है. इसे इत्तेफाक़ ही नहीं कहा जा सकता है कि तेंदुलकर की ही तरह कप्तानी छोड़ने के बाद भी ये दिग्गज अपनी टीम के लिए मेंटोर, गाइड, फ्रैंड, फिलोस्फर और गॉडफादर की भूमिका भी निभा रहे हैं.

कप्तानी छोड़ने के बावजूद बने हुए हैं कप्तान!

धोनी भी तेंदुलकर के ही नक्शे-कदम पर ही चलते दिखाई देते हैं. अगर तेंदुलकर नई पीढ़ी के लिए पाजी बन गए तो धोनी माही भाई. शायद धोनी के लिए इससे अच्छी तारीफ कुछ और नहीं हो सकती जब कोहली ने सार्वजनिक तौर पर ये कहा कि भले ही धोनी ने कप्तानी छोड़ दी हो लेकिन वो इस पीढ़ी के लिए हमेशा कप्तान बने रहेंगे. और धोनी ऐसा ही कर रहे हैं.

कोहली बाउंड्री में फील्डिंग कर रहे होते हैं तो धोनी गेंदबाज़ों को नसीहत देते हुए नज़र आते हैं. स्पिन गेंदबाज़ों को समझाना, डांटना और पुचकारना भी शामिल है. स्पिन गेंदबाज़ों के दौरान अगर आप ध्यान से स्टंप माइक्स से बातों को सुने तो साफ पता चलेगा कि कप्तानी असल में धोनी ही कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY