मोदी के गढ़ में फिर गरजे राहुल, कहा – हम अपने मन की बात नहीं सुनाएंगे, आपके मन की सुनेंगे

ऐसा लग रहा है जैसे पीएम मोदी और राहुल गांधी के बीच रेस चल रही हो, एक महीने के भीतर प्रधानमंत्री तीसरी बार गुजरात दौरे पर पहुंचे तो राहुल गांधी दूसरी बार। वह सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी के दौरे के ठीक एक दिन बाद मिशन गुजरात पर अहमदाबाद के खेड़ा पहुंचे।

यहां उन्होंने कहा कि ‘मैं गरीबों, मजदूरों, किसानों, आदिवासियों के मन की बात करता हूं। हम आपको अपने मन की बात नहीं बताएंगे, बल्कि हम आपके मन की बात सुनेंगे। हम आप सब से पूछकर फैसले लेंगे, मोदी का गुजरात मॉडल पूरी तरह से फेल है। ये गुजरात को मालूम है, हम गरीबों, मजदूरों का मॉडल खड़ा करेंगे।’

15 दिन में दूसरी बार गुजरात दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी ने कहा कि ‘मौजूदा सरकार 10-15 उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है। गुजरात में गरीबों का इलाज और बच्चों की पढ़ाई मुश्किल है। राजस्थान में गहलोत सरकार ने मुफ्त में इलाज शुरू किया था, हमारी सरकार आने पर वैसा ही गुजरात में होगा।’

उन्होंने एक बार फिर विकास का मुद्दा उछाला और लोगों से पूछा, ‘गुजरात में विकास को क्या हुआ? ये कैसे पागल हुआ?’ गुजरात में झूठ सुन-सुनकर विकास पागल हो गया है।’

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि चीन में एक दिन में 50 हजार लोगों को रोज़गार मिलता है और भारत में केवल 450 को। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने 22 साल में कुछ नहीं किया, पूरे देश में किसान आत्महत्या कर रहे हैं।

अपने गुजरात दौरे में राहुल गांधी मशहूर सांताराम मंदिर जाएंगे। इसके बाद पाटीदार समुदाय को खुश करने के लिए सरदार पटेल के जन्मस्थान करमसाड भी जाएंगे। गुजरात दौरे में राहुल डॉक्टर, वकील और सीए जैसे प्रोफेशनल्स से भी मुलाकात करेंगे. सैयाजी हॉल में वह छात्र संसद में हिस्सा लेंगे।

LEAVE A REPLY