जानें कैसे आप स्लिम और स्वस्थ्य रह सकते हैं

सुंदर और स्लिम दिखने की चाह तो हर किसी को होती है, इसी चाह में लोग जिम में खूब पसीना बहाते हैं।घंटों वर्कआउट करते हैं, घंटों वर्कआउट करने के बाद अगर आप सही डाइट नहीं ले रहे हैं तो आपका इतनी मेहनत बेकार जा सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि डाइट और वर्क आउट में काफी गहरा संबंध होता है। आपकी डाइट का सीधा असर आपके वर्कआउट या फिर एक्सरसाइज के परिणामों पर पड़ता है। इसलिए आपका यह जानना बहुत जरूरी है कि एक्सरसाइज के बाद आपको क्या खाना चाहिए जिससे आपकी मेहनत का पूरा फायदा आपको मिल सके। आज हम आपको कुछ ऐसे ही फूड्स या फ्रूट्स के बारे में बताने जा रहे हैं।

इंटरनैशनल सोसायटी ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन के जर्नल के मुताबिक वर्कआउट के तुरंत बाद थोड़ा कार्बोहाइड्रेट व थोड़ा प्रोटीन लेना बेहद फायदेमंद होता है। अगर आप मसल्स बनाना चाहते हैं तो वर्कआउट खत्म होने के 15 मिनट के अंदर ही 20-25 ग्राम प्रोटीन और 30 से 35 ग्राम कार्बोहाइड्रेट ग्रहण करें। यदि आप वजन घटाना चाहते हैं तो थोड़ी देर बाद खाएं लेकिन एक्सरसाइज व खाने के बीच का अंतर 45 मिनट से 1 घंटे हो, इससे ज्यादा नहीं।

इसके अलावा इन चीज़ों को अपने खानपान में अवश्य शामिल करेंशः-

शकरकन्द – एक या दो शकरकन्द को गैस पर भूनकर खाना काफी फायदेमंद होता है। शकरकन्द कॉम्पलेक्स कार्बोहाइड्रेट्स से भरपूर होता है, जो वर्कआउट के कारण शरीर में घटे हुए ग्लाइकोजेन को स्तर को पुनः प्राप्त करने में मदद करता है।

घी – मांसपेशियों को चिकनाई प्रदान करने और शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए घी का सेवन किया जा सकता है। घी मोटापा नहीं बढ़ाता बल्कि इसमें मौजूद फैटी एसिड फैट को तोड़ने में मदद करता है। शरीर में ताकत बनाए रखने के लिए रोजाना एक चम्मच घी का सेवन करना चाहिए।

अंडा- अंडा प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत है। एक अंडे में तकरीबन 70 कैलोरी व 6.3 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है। मसल्स बनाने के लिए प्रोटीन की सेवन बेहद जरूरी होता है। इसलिए वर्कआउट के बाद प्रोटीन से भरपूर सब्जियों को मिलाकर बनाया हुआ वेजीटेबल ऑमलेट काफी फायदेमंद होता है।

फलों के सलाद – ताजे फलों में भरपूर मात्रा में हेल्दी व आसानी से पचने वाले कार्बोहाइड्रेस, मिनरल्स व एंजाइम्स पाए जाते हैं। एंजाइम्स न्यूट्रिएंट्स को ब्रेक करने में मदद करते हैं जिससे एक्सरसाइज़ के कारण थकी हुई मांसपेशियों को नई जान मिलती है। अतः मौसमी फलों से बना फ्रूट सलाद ग्रहण कीजिए।

केला – केले में भरपूर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है। साथ ही साथ यह गुड कॉर्ब्स का भी अच्छा स्रोत होता है। वर्कआउट के बाद इनकी हमारे शरीर को बहुत जरूरत होती है। ये कॉर्ब्स शरीर में ग्लाइकोजेन के स्तर को बढ़ाने व क्षतिग्रस्त मांसपेशियों को ठीक करने में मदद करते हैं।

LEAVE A REPLY