दोस्ती करने अमेरिका पहुंचे यह पाकिस्तानी नेता

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ तीन दिन के दौरे पर अमेरिका पहुंचे हैं। उनकी यह यात्रा अमेरिका के साथ द्विपक्षीय संबंधों में सुधार लाने की कोशिशों के तौर पर देखी जा रही है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पाकिस्तान पर आतंकवादी संगठनों को शरण देने के आरोप के बाद दोनों देशों के बीच रिश्तों में खटास पैदा हो गई है।

पिछले दिनों अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र से अलग न्यूयॉर्क में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री खाकान अब्बासी से मुलाकात की थी। एक पखवाड़े से भी कम समय बाद ही पाकिस्तान के शीर्ष नेता की यह यात्रा हो रही है। यह यात्रा दोनों देशों के बीच बातचीत के धीरे-धीरे बहाल होने का संकेत देती है।

आसिफ बुधवार को अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन से बातचीत करेंगे. वह अपनी यात्रा के दौरान ट्रंप प्रशासन के शीर्ष नेतृत्व से भी मुलाकात करेंगे। गुरूवार को उनका अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एच आर मैकमास्टर से मुलाकात करने का कार्यक्रम है।

टिलरसन के साथ कार्यक्रम की जानकारी देते हुए विदेश विभाग ने बताया कि दोनों नेता सुबह लगभग 10 बजे विदेश विभाग के फॉगी बॉटम मुख्यालय में मुलाकात करेंगे। वाशिंगटन डीसी में पाकिस्तानी दूतावास के प्रवक्ता ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘परस्पर हितों के सभी मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।’ विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ वाशिंगटन डीसी स्थित थिंक टैंक यूनाइटेड स्टेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ पीस (यूएसआईपी) में भाषण भी देंगे।

यूएसआईपी के अनुसार, अमेरिका की नई दक्षिण एशिया नीति की घोषणा के बाद अमेरिका-पाकिस्तान संबंध सबसे निचले स्तर पर पहुंच गए हैं। इस बीच, अमेरिकी अधिकारियों ने आतंकवादी संगठनों की ओर से अफगानिस्तान और भारत में हमले लगातार जारी रखे जाने को लेकर पाकिस्तान के प्रति धैर्य खत्म होने के संकेत दिए हैं।

LEAVE A REPLY