संघ मुक्त भारत का नारा देने वाले नीतीश पहनेंगे खाकी चड्ढी

कहते हैं राजनीति का ऊंट आपको किस करवट पटके आप कल्पना भी नहीं कर सकते। ख़बर है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सर संघचालक मोहन भागवत के साथ इस सप्ताह में आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम में नजर आ सकते हैं। और यह कहावत उनके ऊपर बिल्कुल सही बैठती है क्योंकि अभी जुम्मा जुम्मा चार दिन नहीं हुए जब नीतीश कुमार संघ मुक्त भारत की बात करते थें।

11वीं सदी के ब्रह्मज्ञानियों के सम्मान में यह कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। ब्रह्मज्ञानी आचार्य रामानुज की 1000वीं जयंती के मौके पर दोनों के ”धर्म संसद” में भाग लेने की उम्मीद है। रामानुज 1017 एडी में पैदा हुए थे, जिनकी  शिक्षाओं ने भक्ति आंदोलन को प्रभावित किया था।  हालांकि जनता दल यूनाइटेड ने आधिकारिक तौर पर नीतीश के भाग लेने का एेलान नहीं किया है, लेकिन पार्टी के एक शीर्ष नेता ने पुष्टि की है कि मुख्यमंत्री इसमें मौजूद रहेंगे। द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक जेडीयू के नेता ने कहा, इसमें क्या बड़ी बात है।

अब हम एनडीए में हैं तो हमें बीजेपी और उसके सहयोगियों को अपनाना होगा। जेडीयू नेता ने कहा, जब पहले जेडीयू-बीजेपी साथ थे तब भी मोहन भागवत ने जनता दरबार में नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। एक शीर्ष बीजेपी नेता ने भी नीतीश कुमार के शामिल होने की पुष्टि करते हुए कहा कि वह कार्यक्रम में केवल एक घंटे के लिए शामिल होंगे।

LEAVE A REPLY