बंदूक के लाइसेंस लेने में देश में उत्तर प्रदेश सबसे आगे

देश में बंदूकों के लाइसेंस लेने के मामले में उतार प्रदेश सबसे आगे है . गृह मन्त्रालय की तरफ से जरी आंकड़ों के अनुसार 31 दिसम्बर 2016 तक देश में कुल 33.69 लाख लाइसेंस जरी किये गए . इनमे से सबसे अधिक 12.77 लाख लाइसेंस सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही दिए गए और अधिकतर लाइसेंस व्यक्तिगत सुरक्षा के नाम पर लिए गए .

इस क्रम में 3.69 लाख बन्दूंको के लाइसेंस के साथ आतंक प्रभावित जम्मू और कश्मीर दुसरे स्थान पर है . वर्ष 2011 की जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश की जनसंख्या 19.98 करोड़ है मंत्रालय ने बताया की करीब तीन दशक से आतंकवाद से प्रभावित  जम्मू और कश्मीर में 3.69 लाख लोगों के पास बंदूक के लाइसेंस हैं . इसमें प्रतिबंधित बोर और गैर प्रतिबंधित बोर, दोनों ही तरह के हथिया शामिल हैं .

साल 2011 कि जनगणना के मुताबिक़, प्रान्त की कुल आबादी 1.25 करोड़ है . 1980 और 90 के दशक में आतंकवाद से प्रभावित रहे पंजाब में बंदूक के लाइसेंस की संख्या 3.59 लाख है. इनमे से ज़्यादातर लाइसेंस राज्य में आतंकवाद के दो दशकों के दौरान जारी किये गए थे.

मंत्रालय के मुताबिक़ , सबसे कम लाइसेंस केंद्र शाशित प्रदेशों दमन और दीव और दादरा और नागर हवेली में जारी किये गए . इन प्रदेशों में केवल इन प्रदेशों में केवल 125-125 लाइसेंस जारी किये गए .

LEAVE A REPLY