महिलाओं को मिली आज़ादी तो 10 लाख लोगों की खुशियां छिनीं

सऊदी अरब में महिलाओं पर लगा ड्राइविंग का प्रतिबंध हटा लिया गया है. लम्बे अरसे के बाद जून 2018 से सऊदी अरब की सड़कों पर वहां की महिलाएं ड्राइविंग करती दिखेंगी . सऊदी अरब में महिलाओं के बीच जश्न का माहोल है लेकिन इसके साथ ही यहाँ रोज़गार पाए भारत , पाकिस्तान , बांग्लादेश और श्रीलंका समेत ऐशिया के प्रवासी ड्राईवरों की नौकरी को लेकर सवाल उठने लगे हैं .

एक अनुमान के मुताबिक सऊदी अरब में करीब 8 लाख ड्राईवर हैं , जिनमे भारतियों और बंगलादेशी ड्राईवरों की संख्या सबसे ज़्यादा है . भारत के पंजाब और केरला से बड़ी संख्या में लोग सऊदी अरब में बतौर ड्राईवर रोज़गार में हैं. जेद्दा में पिछले 10 साल से किराये पर कार देने का व्यापार करने वाले  बहर बकूल के अनुसार , कई ड्राईवर घरों में लगे हुयें हैं . ऐसा भी है की अगर घर में तीन बच्चे हैं और उन्हें अलग – अलग स्कूल भेजना है तो , तीनो के लिए अलग – अलग ड्राईवर नियुक्त है.

इसमें से अधिकांश भारत , बांग्लादेश , पकिस्तान या श्रीलंका के होते हैं . सऊदी अरब की समाचार वेबसाइट अल अरेबिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार सऊदी में 10 लाख विदेशी ड्राईवर नौकरी कर रहें हैं.

LEAVE A REPLY