जिसने अपने बाप को रुलाया वो कभी कामयाब नहीं हो सकता : मुलायम

समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस कर साफ़ कर दिया कि वह कोई दूसरी पार्टी खोलने के मूड में नहीं उनका नाम लेकर नयी पार्टी बनाए जाने की बात ग़लत है.

पार्टी के अध्यक्ष और अपने बेटे के लिए उनका दर्द छलका. मुलायम ने कहा की अखिलेश मेरे बेटें हैं,उनको हमारा आर्शीवाद हैं. लेकिन उनके निर्णयों से मैं सहमत नहीं हूं. राम मनोहर लोहिया ट्रस्ट में प्रेस कांफ्रेंस की शुरुआत में मुलायम सिंह यादव ने केंद्र और राज्य की सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा कि पेट्रोलियम को जीएसटी में लाना चाहिए था. नोटबंदी से लोगों की कमर टूट गई. बीएचयू में लड़कियों से छेड़खानी हुई.

उन्होंने कहा कि मेरे कार्यकाल में पर्याप्त बिजली आपूर्ति होती थी. आज लोग बिजली के लिए तरस रहे हैं. किसानों का एक लाख का कर्ज माफ होना चाहिए था. कर्ज माफी में किसानों के साथ खिलवाड़ हो रहा है. शिक्षामित्रों के साथ ठीक नहीं हुआ.लोगों को मुफ्त दवाई, पढ़ाई और सिंचाई मिलना चाहिए. युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है.

उन्होंने अपील की कि समाजवादी विचारधारा के लोग सपा से जुड़ें. समाजवादी पार्टी गांव, मुहल्ले सभी जगह है. अखिलेश ने जो कहा सही कहा है. मैं अखिलेश के निर्णय से सहमत नहीं हूं. किस निर्णय पर सहमत नहीं हूं ये समय आने पर बता दूंगा. अखिलेश के लिए मुलायम ने कहा कि हमसे कहा था कि तीन महीने का समय दे दीजिए, उसके बाद आप अध्यक्ष हो जाइएगा. लेकिन वह अपनी बात पर नहीं टिका. ऐसा व्यक्ति जीवन में कभी कामयाब नहीं हो सकता. ​बाप को ही धोखा दिया.

उन्होंने कहा कि देश के बहुत बड़े नेता ने कह दिया कि जो बाप का नही वो किसी का नहीं. इसके साथ ही मुलायम ने साफ किया कि वह कोई नई पार्टी नहीं बना रहे हैं. अखिलेश या शिवपाल किसके साथ हैं. इस सवाल पर मुलायम ने कहा कि हम समाजवादी पार्टी के साथ हैं.

सपा के राज्य सम्मेलन में अखिलेश द्वारा ये कहने कि आस्तीन के सांप ने चुनाव हरवाया. इससे जुड़े सवाल पर मुलायम ने कहा कि अखिलेश से ही पूछिए आस्तीन का सांप कौन है. उधर मुलायम सिंह यादव की प्रेस कांफ्रेंस में शिवपाल यादव नहीं पहुंचे. इस पर मुलायम ने कहा शिवपाल किसी काम से इटावा में है. मुलायम ने कहा कि हम समाजवादी पार्टी के साथ हैं.

LEAVE A REPLY