कांग्रेस ही है युवाओं का भविष्य : राहुल

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका में प्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में असहिष्णुता की बढ़ती घटनाओं को लेकर अमेरिका में भी चिंता बढ़ रही है। राहुल ने प्रवासी भारतीयों से देश को बांटने वाली ताकतों के खिलाफ खड़े होने को कहा।

राहुल ने बुधवार को इंडियन नेशनल ओवरसीज कांग्रेस (आईएनओसी) द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कहा कि उन्होंने अमेरिका के अपने मौजूदा दौरे के दौरान प्रशासन के लोगों और रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टियों के सदस्यों से मुलाकात की, जिन्होंने मुझसे पूछा, “भारत में सदियों से कायम सहिष्णुता का क्या हुआ? सौहार्द का क्या हुआ?”

राहुल ने बीजेपी का नाम लिये बिना कहा, “देश की विभाजनकारी राजनीति भारत की छवि को विदेशों में धूमिल कर रही है और विदेशों में रह रहे प्रवासियों को भारत को बांटने वाली शक्तियों के खिलाफ खड़े होना चाहिए।” राहुल ने कहा, “दुनियाभर में लोक लुभावनवाद असहिष्णुता चरम पर है और विश्व चिंतन में है कि क्या भारत के पास शांति बहाली के उपाय हैं।”

राहुल ने कहा, ‘महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, डॉक्टर अंबेडकर, मौलाना आजाद सभी NRI थे. आजादी के आंदोलन में इन सभी लोगों की अहम भूमिका रही है. कांग्रेस का असली आंदोलन NRI मूवमेंट था.

राहुल ने अमेरिका में रह रहे भारतीयों से कहा कि आप लोग अच्छा काम कर रहे हैं. भारत में काफी काम करने की जरूरत है, मैं आप लोगों को आगे आने और आगे बढ़ने का दृष्टिकोण बताने को आमंत्रित करता हूं. उन्होंने कहा कि आप लोग भारत आएं और अच्छे विचारों को लेकर आएं और कांग्रेस के साथ मिलकर देश के लिए काम करें. राहुल ने कहा NRI भारत की रीढ़ है और देश को आपकी जरूरत है.

LEAVE A REPLY